अधिष्ठाता की कलम से......

श्री वर्णी दिगम्बर जैन गुरुकुल पिसनहारी मढ़िया के सामने जबलपुर
जो की जैन सामाजिक संस्था है जिसकी स्थापना सन्त गणेश प्रसाद वर्णी जी ने सन 1946 में की थी। इस संस्था का प्रमुख उद्देश्य वर्तमान समय में कोई भी अशिक्षित न हो अर्थात प्रत्येक बालक पूर्ण शिक्षित हो एवं अपने देश एवं संस्कृति का गौरवगान कर अपने जीवन का श्रेष्ठ निर्वहन एवं निर्माण करे इसी उद्देश्य को सार्थक करते हुए यह संस्था वर्णी गुरुकुल विद्यालय का श्रेष्ठ संचालन कर रही है। जो की नर्सरी से लेकर 12 वीं तक विद्यार्थियों को ज्ञान अध्यन करा कर शिक्षित करती है।
वर्तमान में इस विद्यालय समिति के प्रमुख अधिष्ठाता ब्र. जिनेश जी जैन हैं । संस्था के अध्यक्ष ज्ञानचन्द्र जी लारेक्स एवं महामंत्री कमल कुमार दानी हैं।
विद्यालय के प्राचार्य श्री आशीष जैन जी हैं। एवं विद्यालय 7 एकड़ भूमि प्रांगड़ में निर्मित है जिसमे खेल कुंद मैदान 80 से अधिक कक्ष एवं सर्वसुविधा युक्त कार्यक्रम हाल आदि बना हुआ है।
यहाँ 450 से अधिक बच्चे अध्यन रत हैं। तथा हजारों छात्र-छात्राएं यहाँ से पढ़कर आज उच्च पदों पर आसीन हैं।
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Varni Digamber Jain Gurukul School enter prise to map academic excellence with a good human system so that all student succeed in their world.

Pupils at all stages are offered balanced curriculum that encompasses academic opport unities as well those in drama, art, music and sport. Our aim is "Rest Not Till You Reach" and we endeavour to inculcate the same in our students.

Mr. Ashish Jain (Principal)